Breaking News
Homeराजनीतिविश्व में भारत की छवि एक शक्तिशाली राष्ट्र की तरह देखी जाती...

विश्व में भारत की छवि एक शक्तिशाली राष्ट्र की तरह देखी जाती है:डाॅ. रमापतिराम त्रिपाठी

विश्व में भारत की छवि एक शक्तिशाली राष्ट्र की तरह देखी जाती है:डाॅ. रमापतिराम त्रिपाठी

हम जहां राष्ट्र की सोचते हैं, वहीं विपक्षी दल सिर्फ अपने बारे में : सदर सांसद

देवरिया,। शहर के मैरेज हाल में रविवार को भारतीय जनता पार्टी का तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर प्रारंभ हुआ, जिसमें जनपद के सभी कार्यकर्ता व पदाधिकारी शामिल हुए। सांसद देवरिया सदर डाॅ. रमापतिराम त्रिपाठी ने भारत माता, दीनदयाल उपाध्याय व श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलित व माल्यार्पण कर शुभारम्भ किया। कहा कि हम जहां राष्ट्र की सोचते हैं, वहीं विपक्षी दल सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं।
प्रथम सत्र में सदर सांसद डॉ. त्रिपाठी ने भाजपा की जनसंघ की स्थापना से लेकर वर्तमान भाजपा की यात्रा व इतिहास के बारे में विस्तार से बताया।उन्होंने कहा कि 1951 में डाॅ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जनसंघ की नींव रखी। बाद में पं दीनदयाल उपाध्याय जैसे महापुरुषों ने अपनी सोच एवं परिकल्पना के आधार पर इसे आगे बढ़ाया। 1980 में बनी भारतीय जनता पार्टी को अटल बिहारी वाजपेयी जैसे मनीषियों का नेतृत्व मिला और आज नरेंद्र मोदी जैसे मजबूत एवं सटीक निर्णय लेने वाले प्रधान सेवक के बदौलत पूरे विश्व में भारत का मान सम्मान एवं गौरव बढ़ा।

सदर सांसद ने कहा कि देश में आए प्रत्येक संकट के समय विपक्ष में रहते हुए हमने सरकार के प्रत्येक निर्णय में अपनी सहमति प्रदान की। 1971 में भारत पाक युद्ध के दौरान अटलजी ने इंदिरा गांधी से कहा था कि तुम दुर्गा की तरह लड़ो हमारी पार्टी और पूरा देश तुम्हारे साथ है। जब कि केंद्र में हमारी सरकार के दौरान कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों ने कारगिल युद्ध और सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया। उन्होंने कहा कि यही फर्क है भारतीय जनता पार्टी और अन्य दलो में। हम जहां राष्ट्र की सोचते हैं वहीं विपक्षी दल सिर्फ अपने बारे में। कहा कि 6 अप्रैल 1980 को भारतीय जनता की स्थापना हुई। पार्टी के परिश्रमी एवं साहसी कार्यकर्ताओं की बदौलत भाजपा आज 18 करोड़ सदस्यों वाली विश्व की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी है।
उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री मोदी ने गरीबों के जनधन खाते खुलवाने का निर्णय लिया तब लोगों ने इसका मजाक उड़ाया और कहा कि गरीब के पास पैसे है ही नहीं तो खाते खुलवाकर क्या होगा। लेकिन जब सब्सीडी की पूरी राशि सीधे खाते में पहुंची तब लोगों ने पीएम मोदी के इस निर्णय का लोहा माना। उन्होंने कहा कि इसी तरह जब स्वच्छता अभियान की शुरुआत की तब भी लोगों ने कहा कि इनके पास काम नहीं है इसलिए ऐसे उटपटांग निर्णय ले रहे हैं। जबकि स्वच्छता अभियान आज जन आंदोलन बन चुका है। जब हमने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने की बात की तो विपक्षी दलों ने कहा कि देश में दंगे हो जाएंगे, लेकिन नेतृत्व करने की क्षमता एवं मजबूत नेतृत्व की बदौलत धारा 370 भी हट गयी और देश में एक भी दंगा नही हुआ। आज पूरे विश्व में भारत की छवि एक मजबूत एवं शक्तिशाली राष्ट्र की तरह देखी जाती है। कहा कि भगवान राम के अस्तित्व को नकारने वाले आज संगम और गंगा में डुबकी लगा रहे हैं। जो देश कभी भारत को आंख दिखाते थे वो आज भारत से दोस्ती के लिए लालायित है।
द्वितीय सत्र हमारा विचार परिवार के विषय में आरएसएस के विभाग संघचालक राजधारी ने विस्तार से जानकारी दी। तीसरे सत्र 2014 के बाद आया युगान्तकारी परिवर्तन पैराडाइम शिफ्ट पर सभापति सहकारी ग्राम विकास बैंक संतराज यादव ने प्रकाश डाला। चौथे सत्र बदली हुई परिस्थिति में भाजपा का दायित्व एवं भाजपा के वैशिष्ट्य की समझ को पूर्व राष्ट्रीय मंत्री विनोद पाण्डेय ने कार्यकर्ताओं को बताया। पांचवे और पहले दिन के अंतिम सत्र भारत की मुख्य विचारधारा-हमारी विचारधारा पर प्रदेश महामंत्री अनूप गुप्ता ने विस्तार से बताया।

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular

विश्व में भारत की छवि एक शक्तिशाली राष्ट्र की तरह देखी जाती है:डाॅ. रमापतिराम त्रिपाठी

हम जहां राष्ट्र की सोचते हैं, वहीं विपक्षी दल सिर्फ अपने बारे में : सदर सांसद

देवरिया,। शहर के मैरेज हाल में रविवार को भारतीय जनता पार्टी का तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर प्रारंभ हुआ, जिसमें जनपद के सभी कार्यकर्ता व पदाधिकारी शामिल हुए। सांसद देवरिया सदर डाॅ. रमापतिराम त्रिपाठी ने भारत माता, दीनदयाल उपाध्याय व श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलित व माल्यार्पण कर शुभारम्भ किया। कहा कि हम जहां राष्ट्र की सोचते हैं, वहीं विपक्षी दल सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं। प्रथम सत्र में सदर सांसद डॉ. त्रिपाठी ने भाजपा की जनसंघ की स्थापना से लेकर वर्तमान भाजपा की यात्रा व इतिहास के बारे में विस्तार से बताया।उन्होंने कहा कि 1951 में डाॅ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जनसंघ की नींव रखी। बाद में पं दीनदयाल उपाध्याय जैसे महापुरुषों ने अपनी सोच एवं परिकल्पना के आधार पर इसे आगे बढ़ाया। 1980 में बनी भारतीय जनता पार्टी को अटल बिहारी वाजपेयी जैसे मनीषियों का नेतृत्व मिला और आज नरेंद्र मोदी जैसे मजबूत एवं सटीक निर्णय लेने वाले प्रधान सेवक के बदौलत पूरे विश्व में भारत का मान सम्मान एवं गौरव बढ़ा। सदर सांसद ने कहा कि देश में आए प्रत्येक संकट के समय विपक्ष में रहते हुए हमने सरकार के प्रत्येक निर्णय में अपनी सहमति प्रदान की। 1971 में भारत पाक युद्ध के दौरान अटलजी ने इंदिरा गांधी से कहा था कि तुम दुर्गा की तरह लड़ो हमारी पार्टी और पूरा देश तुम्हारे साथ है। जब कि केंद्र में हमारी सरकार के दौरान कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों ने कारगिल युद्ध और सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया। उन्होंने कहा कि यही फर्क है भारतीय जनता पार्टी और अन्य दलो में। हम जहां राष्ट्र की सोचते हैं वहीं विपक्षी दल सिर्फ अपने बारे में। कहा कि 6 अप्रैल 1980 को भारतीय जनता की स्थापना हुई। पार्टी के परिश्रमी एवं साहसी कार्यकर्ताओं की बदौलत भाजपा आज 18 करोड़ सदस्यों वाली विश्व की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी है। उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री मोदी ने गरीबों के जनधन खाते खुलवाने का निर्णय लिया तब लोगों ने इसका मजाक उड़ाया और कहा कि गरीब के पास पैसे है ही नहीं तो खाते खुलवाकर क्या होगा। लेकिन जब सब्सीडी की पूरी राशि सीधे खाते में पहुंची तब लोगों ने पीएम मोदी के इस निर्णय का लोहा माना। उन्होंने कहा कि इसी तरह जब स्वच्छता अभियान की शुरुआत की तब भी लोगों ने कहा कि इनके पास काम नहीं है इसलिए ऐसे उटपटांग निर्णय ले रहे हैं। जबकि स्वच्छता अभियान आज जन आंदोलन बन चुका है। जब हमने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने की बात की तो विपक्षी दलों ने कहा कि देश में दंगे हो जाएंगे, लेकिन नेतृत्व करने की क्षमता एवं मजबूत नेतृत्व की बदौलत धारा 370 भी हट गयी और देश में एक भी दंगा नही हुआ। आज पूरे विश्व में भारत की छवि एक मजबूत एवं शक्तिशाली राष्ट्र की तरह देखी जाती है। कहा कि भगवान राम के अस्तित्व को नकारने वाले आज संगम और गंगा में डुबकी लगा रहे हैं। जो देश कभी भारत को आंख दिखाते थे वो आज भारत से दोस्ती के लिए लालायित है। द्वितीय सत्र हमारा विचार परिवार के विषय में आरएसएस के विभाग संघचालक राजधारी ने विस्तार से जानकारी दी। तीसरे सत्र 2014 के बाद आया युगान्तकारी परिवर्तन पैराडाइम शिफ्ट पर सभापति सहकारी ग्राम विकास बैंक संतराज यादव ने प्रकाश डाला। चौथे सत्र बदली हुई परिस्थिति में भाजपा का दायित्व एवं भाजपा के वैशिष्ट्य की समझ को पूर्व राष्ट्रीय मंत्री विनोद पाण्डेय ने कार्यकर्ताओं को बताया। पांचवे और पहले दिन के अंतिम सत्र भारत की मुख्य विचारधारा-हमारी विचारधारा पर प्रदेश महामंत्री अनूप गुप्ता ने विस्तार से बताया।